About Ayurved (Ayurvedic Medicine) is a resource of Ayurveda information and Home Remedy Ayurveda Tips on how to get ride of all kind of body diseases.

जोड़ों और हड्डियों में दर्द का कारण, लक्षण और उपचार !!

जोड़ों और हड्डियों में दर्द का कारण, लक्षण और उपचार !!
loading...

जोड़ों का दर्द शरीर के किसी भी हिसे में हो सकता है। काफी समय बैठे रहने से, सफर करने से या उम्र बढ़ने से हमारे घुटने अकड़ जाते है या दर्द करने लग जाते है। जिसे हम जोड़ो का दर्द या Joint Pain कहते है। कभी कभी घुटनों के दर्द की वजह से पूरा पैर दर्द करने लग जाता है।जोड़ों का दर्द हमे पैरों के घुटनों, गुहनियों, गदर्न, बाजुओं और कूल्‍हों में हो सकता है।

जोड़ों के दर्द के कारण

  • हड्डियों में मिनरल यानि की खनिज की कमी होना
  • अर्थराइटिस
  • बर्साइटिस
  • कार्टिलेज का घिस जाना
  • खून का कैंसर होना (Blood Cancer )
  • उम्र बढ़ने के कारण
  • हडियों में मिनरल की कमी

जोड़ों के दर्द के लक्षण

  • चलने, खड़े होने, हिलने-डुलने और यहां तक कि आराम करते समय भी दर्द
  • सूजन और क्रेपिटस
  • चलने पर या गति करते समय जोड़ों का लॉक हो जाना
  • जोड़ों का कड़ापन, खासकर सुबह में या यह पूरे दिन रह सकता है
  • मरोड़
  • वेस्टिंग और फेसिकुलेशन

अगर बुखार, थकान और वजन घटने जैसे लक्षण हों, तो कोई गंभीर अंदरूनी या संक्रामक बीमारी हो सकती है। आपको डॉक्टर से बात करना चाहिए।

जोड़ों के दर्द के उपचार

हल्दी और अदरक की चाय
हल्दी और अदरक दोनों हो anti-inflammatorys होते है। और ये दोनों हमे जोड़ों के दर्द से भी शुटकरा दिला सकते है।

  • २ गिलास पानी
  • १/५ (1 / 5 ) चमच अदरक का पाउडर
  • १/५ (1 / 5 ) चमच हल्दी का पाउडर
  • आप शहद भी ले सकते हो मिठास के लिए

२ गिलास पानी को उबाल लीजये और उस में आधा आधा चमच हल्दी और अदरक पाउडर डाल लीजिए. और इस मिश्रण को १०-१५ (10 -15) मिनट शोड दिज्ये। उस के बाद उसमे शहद डाल भी डाल सकते हो और इस कड़े का दिन में दो बार सेवन कीजिए। और कुछ ही दिनों में रिजल्ट आप के सामने आ जएगा।

मालिश (Massage)
मालिश करने से जोड़ों के दर्द को आराम मिलता है, मालिश लसुन के तेल, सरसों के तेल या नारियल के तेल से हल्के हाथो से करें।

लहसुन (Garlic)
लहसुन की 10 कलियों को 100 ग्राम पानी एवं 100 ग्राम दूध में मिलाकर पकायें। पानी जल जाने पर लहसुन खाकर दूध पीने से दर्द में लाभ होता है।

250 मि.ली. दूध एवं उतने ही पानी में दो लहसुन की कलियाँ, 1-1 चम्मच सोंठ और हरड़ तथा 1-1 दालचीनी और छोटी इलायची डालकर पकायें। पानी जल जाने पर वही दूध पीयें।

लहसुन की दो कलिया रोज सुबह खली पेट खाये। सरसों के तेल में लसुन की कलिया डाल कर भुन ले और दिन में दो बार दर्द प्रभावित हिस्से पर लगए तथा मालिश करें। इस विधि से आप को बहत लाभ प्राप्त होगा।

शेयर करना ना भूले - अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो आप अपने मित्रों और रिश्तेदारों के साथ जरूर शेयर करे!!

loading...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*