About Ayurved (Ayurvedic Medicine) is a resource of Ayurveda information and Home Remedy Ayurveda Tips on how to get ride of all kind of body diseases.

क्या आपको मूत्रमार्ग संक्रमण की समस्या है??

क्या आपको मूत्रमार्ग संक्रमण की समस्या है??
loading...

पेशाब में जलन होना आम समस्‍या है लेकिन बहुत से लोग इसे नजरअंदाज कर जाते हैं। कभी-कभी यह कुछ समय के लिये ही होती है और कभी यह महीनो तक चलती है। यह बीमारी महिलाओं और पुरुष दोनों को ही होती है। किडनी यानी गुर्दा मानव शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। शरीर में इसका कार्य किसी कंप्यूटर की तरह अत्यंत जटिल है।

गुर्दा हमारे शरीर में सिर्फ मूत्र बनाने का ही काम नहीं करता वरन इसके अन्य कार्य भी हैं। जैसे- खून का शुद्धिकरण, शरीर में पानी का संतुलन, अम्ल और क्षार का संतुलन, खून के दबाव पर नियंत्रण, रक्त कणों के उत्पादन में सहयोग और हड्डियों को मजबूत करना इत्यादि। लेकिन यह दुखद है कि आम तौर पर बरती जाने वाली लापरवाही के कारण भारत में कैंसर और ह्रदय रोग के बाद सर्वाधिक लोगों की मौत किडनी की बीमारी से होती है।

मूत्रमार्ग संक्रमण के क्या लक्षण हैं?

  • पेशाब करते समय दर्द या जलन महसूस होना
  • श्रोणि, पेट के निचले हिस्से, पीठ के निचले हिस्से या दोनों बगल में दर्द
  • कंपकपी छूटना
  • शरीर में बढ़ा हुआ तापमान
  • कभी गर्मी और कभी सर्दी लगना
  • मिचली और उल्टी
  • बार-बार पेशाब करने की जरूरत, यहां तक कि रात में भी
  • पेशाब करने की बेकाबू अर्ज (असंयम)
  • पेशाब से तेज गंध आना
  • भूरा, धुंधला, रक्तरंजित या तेज दुर्गंध वाला पेशाब
  • पेशाब की मात्रा में बदलाव (कम या ज्यादा)
  • पेशाब में मवाद/पीप
  • संभोग के दौरान दर्द

घरेलू उपचार

1. सबसे पहले तो खूब सारा पानी पिये नहीं तो शरीर में पानी की कमी हो जाएगी और पेशाब पीले रंग की दिखाई पड़ने लगेगी। दिन में कुछ घंटो के भीतर 2-3 गिलास पानी पिये। अगर पेशाब करने के बाद अधिक देर तक जलन हो तो आपको मूत्र पथ संक्रमण है।

2. खट्टे फल यानी की सिट्रस फ्रूट खाइये क्‍योकि इसमें सिट्रस एसिड होता है जो कि मूत्र संक्रमण पैदा करने वाले बैक्‍टीरिया को मारता है।

3. आमला का रस भी पेशाब की जलन को ठीक करने में सहायक है।

4. नारियल का पानी डीहाइड्रेशन तथा पेशाब की जलन को ठीक करता है। आप चाहें तो नारिल पानी में गुड और धनिया पाउडर भी मिला कर पी सकते हैं।

5. संभोग करते वक्‍त प्रोटेक्‍शन बरते क्‍योंकि योनि में सूखापन आ जाने की वजह से पेशाब में जलन होने लगती है। यदि आप लुब्रिकेंट का प्रयोग कर रहे हैं तो वाटर बेस वाले लुब्रिकेंट का प्रयोग करें ना कि रसायन युक्‍त का।

6. एक पानी के गिलास में 1 चम्‍मच धनिया पाउडर मिला कर रातभर के लिये भिगो दें। सुबह उसे छान लें और उसमें चीनी या फिर गुड मिला कर पी लें।

7. जननांग की स्वच्छता बनाए रखें। कई बार, योनि या लिंग में संक्रमण होने की वजह से भी मूत्र मार्ग को प्रभावित करते हैं। यदि आपको यह समस्‍या हो चुकी है तो अब से कुछ सावधानियां बरते जैसे, दिन में 2-3 बार जननांग को धोएं।

8. यदि आपको किडनी स्‍टोन है तो पेशाब में जलन होगी। इसके लिये आपको बीयर पीनी चाहिये जिससे कि किडनी का स्‍टोन गल सके। लेकिन सुबह बीयर पीने से डीहाइड्रेशन हो सकता है इसलिये इसे नारियल पानी के साथ मिला कर पीजिये।

शेयर करना ना भूले - अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो आप अपने मित्रों और रिश्तेदारों के साथ जरूर शेयर करे!!

loading...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*